Skip to main content

Posts

Showing posts from April, 2016

पानी-पानी रे....

देश में सूखे की मार और पानी के लिए जारी संग्राम के बीच मौसम विभाग की ओर से सुकून देने वाली खबर आई है। मौसम विभाग ने अनुमान जाहिर किया है कि इस साल सामान्य से छह फीसदी अधिक 110 फीसदी बारिश होगी। पिछले साल 104 फीसदी वर्षा दर्ज की गई थी। सूखे से तरसते देश के लिए इससे राहत की खबर और क्या हो सकती है। इस अनुमान में गौर करने लायक बात यह है कि देश के जिस हिस्से में सूखे की मार ज्यादा है, वहां भी अधिक वर्षा होने की बात कही गई है। इस वक्त महाराष्ट्र के मराठवाड़ा, विदर्भ क्षेत्र और मध्यप्रदेश के बुंदेलखंड क्षेत्र सबसे अधिक सूखे के हालात का सामना कर रहे हैं। निश्चित ही अधिक वर्षा होगी तो सरकार के लिए भी राहत की बात होगी, कारण कि खरीफ फसलों की अधिक पैदावार होगी। अनाज की बंपर उपलब्धता से पीडीएस स्कीमों में किसी प्रकार की दिक्कत नहीं होगी और महंगाई पर नियंत्रण रखने में भी मदद मिलेगी। बड़ा लाभ यह होगा कि अधिक वर्षा होने से भूजल का स्तर सुधरेगा। महाराष्ट्र में भूजल का स्तर सूख जाने के चलते ही पानी का भीषण संकट उत्पन्न हुआ है। लेकिन ये सारी स्थिति मौसम विभाग के अनुमान के हकीकत में बदलने पर निर्भर करेग…